पुरुष एवं स्त्री के सहवास के समय, पुरुष के लिंग में रक्तचाप बढ़ जाने से वह तना हुआ एवं कठोर हो जाता है। यदि ऐसा न हो, तो इससे निःसंतानता उत्पन्न हो जाती है और इस विकृति को स्तंभन दोष कहते हैं। स्तंभन दोष आज के समय में नपुंसकता का एक मुख्य कारण माना जाता है। समझने वाली बात यह है कि यदि इरेक्शन समय-समय पर न हो, तो इस समस्या के कई अन्य कारण भी हो सकते हैं एवं मुख्यतः इसे लिंग में विकृति के रूप में न देखा जाए।

स्तंभन दोष पुरुषों को सिर्फ शारीरिक तौर पर ही नहीं बल्कि मानसिक तौर पर भी हानि पहुंचाता है। इसके परिणामस्वरूप पुरुषों में आत्मविश्वास की कमी, अवसाद आदि दुष्प्रभाव भी देखे जाते हैं। कई पुरुष चिकित्सक का परामर्श लेने में भी संकोच करते हैं, जिसके परिणामस्वरूप यह समस्या और अधिक बढ़ सकती है एवं सदा के लिए नपुंसकता उत्पन्न कर सकती है।

स्तंभन दोष के कुछ मुख्य लक्षण निम्नलिखित हैं।

1. इरेक्शन न हो पाना

2. इरेक्शन को ज़्यादा समय के लिए न बनाए रख पाना

3. यौनेच्छा (कामलिप्सा) में कमी इरेक्शन की समस्या के कई कारण हो सकते हैं, जिनमे से कई स्वतः ही ठीक हो जाते हैं। किंतु, यदि आपको डाइबिटीज़, हृदय रोग, या कोई अन्य मुख्य रोग हो तो अपने चिकित्सक को ज़रूर बताएं एवं उनका परामर्श अवश्य लें।

कैसे होता है स्तंभन दोष? पुरुषों में कामभावना जागृत करने के लिए एक अति महत्वपूर्ण कारक है मस्तिष्क, जो पूरी प्रक्रिया को नियंत्रित करता है। किसी भी प्रकार की चिंता जो आपको मानसिक रूप से दुःखी का रही हो , स्तंभन दोष उत्पन्न कर सकती है। कई बार कई शारीरिक समस्याएं एवं मानसिक चिंताएं मिल कर स्तंभन दोष उत्पन्न कर सकती हैं।

स्तंभन दोष के शारीरिक कारण:

1 हृदय रोग

2 खून की नालियों में चर्बी बढ़ जाना (आर्थिरोसक्लेरोसिस)

3 कोलेस्ट्रोल बढ़ जाना

4 रक्तचाप बढ़ जाना

5 डाइबिटीज़

6 मोटापा

7 पारकिनसन्स डिसीज़

8 तम्बाकू का सेवन करने से

9 लिंग (पीनिस) में घाव हो जाने से

10 नींद पूरी न होना

11 प्रोस्टेट का बढ़ जाना या प्रोस्टेट में कैंसर हो जाना


स्तंभन दोष के मानसिक कारण: मस्तिष्क, इरेक्शन की प्रक्रिया में एक महत्वपूर्ण किरार निभाता है। इरेक्शन की शुरुआत यौन उत्तेजना से होती है। कई मानसिक समस्याऐं यौन उत्तेजना में बाधा उत्पन्न करती हैं जिनके परिणामस्वरूप इरेक्शन नहीं हो पाता।

1 अवसाद, बेचैनी

2 किसी प्रकार की चिंता

3 रिश्तों में तनाव

4 प्रोस्टेट कैंसर के उपचार के तहत उपयोग की गई किरणों (रेडिएशन) से स्तंभन दोष उत्पन्न हो सकता है।

5 रक्तचाप की समस्या के उपचार के लिए सेवन की गई दवाइयां जैसे कई एन्टी हिस्टामिन, एन्टी डिप्रेज़ेंट स्तंभन दोष उत्पन्न कर सकती हैं।