शिलाजीत, जो चट्टानों और पहाड़ों से एक प्राकृतिक निष्कर्षण है, मानव स्वास्थ्य के साथ-साथ पौधे और पशु स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। यह आमतौर पर एक स्वास्थ्य टॉनिक की तरह उपयोग में लाया जाता है, जो किसी व्यक्ति के समग्र स्वास्थ्य और यौन स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। इसके अलावा यह कई अन्य लाभों से भरा है जो इस प्रकार हैं -

तनाव, चिंता, मिर्गी या अल्जाइमर जैसी गंभीर समस्याएं शरीर में वात दोष द्वारा नियंत्रित होती हैं। असंतुलित वात दोष तंत्रिका तंत्र के कार्यों में रुकावट उत्पन्न करता है जिसके कारण इस तरह की कोई भी बीमारी हो सकती है। इनमें से किसी भी स्थिति में शिलाजीत का सेवन करने से तंत्रिकाओं के अच्छे पोषण द्वारा तंत्रिका तंत्र के समुचित कार्य में सुधार करके वात दोष का प्रबंधन करने में मदद मिलती है। यह तंत्रिका तंत्र को एक अच्छी ताकत भी प्रदान करता है जो उनके कार्यों में सुधार कर सकता है और इस तरह के विकारों को रोक सकता है।

मोटापा, अपच, उच्च कोलेस्ट्रॉल जैसी मेटाबॉलिक समस्याएं तीनों में से किसी भी दोष (वात, पित्त और कफ) के असंतुलन के कारण होती हैं। इस असंतुलन से स्रोतस (शरीर के विभिन्न चैनल) में आम (भोजन के पूरी तरह पचने के बाद बचा हुआ अपच भोजन) का निर्माण और संचय होता है। शिलाजीत पाचन में सुधार करके इन सभी स्थितियों का प्रबंधन करने में मदद करता है। यह एक बेहतर स्थिति में ले जाता है जो आम के निर्माण और संचय को रोकता है। इसके अलावा शिलाजीत शरीर के विभिन्न स्रोतस से आम को हटाने में भी मदद करता है, जो स्वस्थ जीवन जीने में मदद करता है।

यूरिनरी प्रॉब्लम जैसे पेशाब का रुक रुक के आना, पेशाब में दर्द या जलन होना, ये सब खराब खान-पान या पानी की कमी या किसी अन्य कारण से होता है। इन कारणों से किसी भी दोष (वात, पित्त और कफ) की असंतुलित स्थिति पैदा हो जिसके कारण इस तरह की कोई भी बीमारी हो सकती है। गोकशूर या पुनर्नवा जैसी अन्य जड़ी बूटियों के साथ शिलाजीत का सेवन इन सभी स्थितियों में बहुत मददगार साबित हो सकता है। यह लक्षणों को कम करने में मदद करता है और आगे होने से भी रोकता है।

शीघ्रपतन, स्तंभन दोष या बांझपन जैसी यौन समस्याएं कुछ ऐसी स्थितियां हैं जो इन दिनों एक बहुत बड़ी चुनौती बन गई हैं। इन सभी के पीछे प्रमुख कारण या तो खराब आहार या भारी तनाव है। शिलाजीत को प्राकृतिक रूप से निकाले गए उत्कृष्ट कामोद्दीपक में से एक माना जाता है, जो अगर अश्वगंधा जैसी अन्य जड़ी बूटियों के साथ लिया जाए तो चमत्कार का काम कर सकता है। यह लक्षणों को कम करने और व्यक्ति को एक अच्छा यौन स्वास्थ्य प्रदान करने में मदद करता है।

इन सभी के अलावा, शिलाजीत एक रसायन औषधि होने के नाते, किसी व्यक्ति के समग्र स्वास्थ्य को प्रबंधित करने और बनाए रखने में मदद करता है। यह शरीर और उसके अंगों जैसे मस्तिष्क, हृदय या हड्डियों को एक अच्छी ताकत प्रदान करने में मदद करता है। शिलाजीत एक व्यक्ति को कई बीमारियों से लड़ने में मदद करता है और साथ ही साथ कोशिकाओं की क्षति और क्षय को रोकता है जो कैंसर जैसे किसी भी बड़े स्वास्थ्य मुद्दे के जोखिम को कम करता है। यही नहीं, एनीमिया यानी खून की कमी, उच्च रक्तचाप या मधुमेह जैसी कुछ स्थितियों में भी शिलाजीत को प्राथमिकता दी जाती है। यह शरीर में एक अच्छे हार्मोनल संतुलन को प्रबंधित करने में भी फायदेमंद है।

 

रसायन और वाजीकरण गुण के कारण शिलाजीत को बहुत पसंद किया जाता है, जो किसी भी व्यक्ति के अच्छे यौन स्वास्थ्य के साथ समग्र स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। इस प्रकार, शिलाजीत एक स्वस्थ और रोग मुक्त जीवन जीने में मदद करता है।

Medically reviewed by Rishabh Verma, RP