एटा एक ऐतिहासिक नगर है, यह तो सभी जानते हैं। बात चाहें रुक्मणी-श्रीकृष्ण के विवाह की हो, महाकवि तुलसीदास की, या आमिर खुसरो की, यह शहर उससे जुड़ा ही है। मैं एटा का एक निवासी हूँ और मुझे एटा के महत्व का आभास भी है, और इस पर गर्व भी।

मगर एटा में वो सब कुछ नहीं जो बड़े शहरों में होता है। स्वास्थ्य सेवाओं के मामले में मेरा शहर काफ़ी पिछड़ा हुआ है।

अभी हाल ही में मेरे एक दोस्त को सैक्स सम्बंधी कुछ सलाह चाहिए थी। मेरे ये दोस्त स्मार्टफ़ोन का ख़ूब प्रयोग करते हैं, तो उन्होंने गूगल सर्च से देखा कि एटा में वो किसको अपनी तकलीफ़ के बारे में मिलें। उनकी समस्या थी लिंग खड़ा ना होना, तो उन्होंने सर्च किया था, "सैक्स डॉक्टर इन एटा"। तो जी टी रोड पर एक क्लीनिक मिला। ऐसी समस्या होने पर जैसा सारे पुरुषों के साथ होता है, उनके साथ भी हुआ। बड़ी झिझक महसूस कर रहे थे वो। तो मुझसे कहा कि चलो साथ में। अब मित्रता इतनी पुरानी है कि मेरा माना करने का तो सवाल ही नहीं पैदा होता था। मैं चल पड़ा साथ में।

क्लीनिक साफ़ सुथरा था। मैंने बाहर ही इंतेज़ार किया और यह अंदर चले गए डॉक्टर से मिलने। दस मिनट बाद बाहर निकले तो इनके चेहरे का रंग उड़ा हुआ था। मैंने पूछा क्या हुआ तो कुछ जवाब नहीं दिया। बोले कि चलो यहाँ से। कहीं चाय पीते हैं और वहीं बात करेंगे।

पहुँचे हम लोग एटा जेल के पास वाली चाय की दुकान पर।

चाय की चुस्की लेते हुए उनकी हालत अब पहले से ठीक लग रही थी। बोले, "यार, पता नहीं था ऐसा होता है।"

"हुआ क्या?" मैंने पूछा।

"यार कुछ अजीब तरीक़े से लिंग टटोला उन्होंने काफ़ी देर और फिर बोले कि नसें कमज़ोर हो गयी हैं! और वो भी इतनी कमज़ोर कि 22,000 रुपए का इलाज करवाना होगा!"

"22,000?।" मैं तो अवाक रह गया।

"अब क्या करूँ?" उन्होंने पूछा।

"अबे दिन भर स्मार्ट्फ़ोन चलाते हो, तो फिर चलाओ।"

अबकि बार उन्होंने सर्च में लिखा, 'ऑनलाइन सेक्स क्लीनिक', और सबसे ऊपर मिला यह लिंक

क्लिक किया तो पता चला कि हिंदुस्तान के जाने माने पुरुष स्वास्थ्य के डॉक्टर, रमन तंवर का बनाया हुआ सिस्टम था वहाँ। वेब्सायट पर कुछ कुछ सवाल आते गए। यह जवाब देते गए। और तीन मिनट से कम में ही सही इलाज के बारे में बहुत कुछ जानने को मिल गया।

और इतना ही नहीं, एकदम वाजिब दाम में दवाइयाँ ऑर्डर भी कर सके। दस मिनट में एक डॉक्टर साहब का फ़ोन भी आ गया। दो तीन सवाल पूछे उन्होंने आसान से। और काम हो गया। कुल ख़र्चा, मात्र 3,950 रुपए! दूसरी चाय ख़त्म भी नहीं हुई थी।


दो दिन में उनके घर वो डिब्बा आ गया। तीसरे दिन दवा लेने के बाद लिंग खड़ा होने की दिक्कत भी गयी (मुस्कराते हुए उन्होंने अगले दिन बताया।)


तो मित्रों अगर कभी भी आप "सैक्स डॉक्टर इन एटा" या "एटा में सैक्स क्लीनिक" सर्च कर रहे हो, तो जी टी रोड जाने के बजाए अपने फ़ोन पर www.misters.in क्लिक कर लेना। बिना झंझट के बात हो जाएगी। सही इलाज मिलेगा। और हाँ, उलटे सीधे दाम भी नहीं देने पड़ेंगे!