स्तम्भन दोष यानी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, एक ऐसी समस्या है जिससे दुनिया के लगभग सभी देशों के पुरुष परेशान हैं। इस विषय पर विशेषज्ञों ने काफी शोध किये एवं इस समस्या का उपचार जानने के कई प्रयत्न किए गए। कुछ चिकित्सक औषधियों के उपयोग से इसका उपचार संभव मानते हैं, तो कुछ पीनाइल पंप जैसे उपकरणों की सहायता से इसका उपचार करने का दावा करते हैं। वहीं कुछ शोधकर्ता ऐसे भी हैं, जिन्होंने शोध में पाया कि आप किचन में मौजूद मसालों के प्रयोग से भी स्तम्भन दोष का उपचार कर सकते हैं।

आपको जान कर आश्चर्य होगा  ऐसे ही एक शोध के अनुसार लाल मिर्च के सेवन से स्तम्भन दोष का उपचार किया जा सकता है।


माना जाता है कि लाल मिर्च में कैप्साइसिन नामक एक तत्व मौजूद होता है, जो पुरुषों की रक्तवाहिनियों को फैलाने अर्थात चौड़ा करने का कार्य करता है, जिसके चलते उनमें रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है। पुरुषों के जननांगो में रक्त का प्रवाह बढ़ने से उनके लिंग में इरेक्शन अच्छा होता है, यानी लिंग सही तरह से खड़ा हो पाता है। इस प्रकार लाल मिर्च का सेवन बढ़ाने से पुरुषों को उनके स्तम्भन दोष से छुटकारा मिल सकता है एवं उनकी समस्या हल हो सकती है। कैप्साइसिन, मिर्च के बीच में मौजूद सफेद हिस्से में पाया जाता है। यह मिर्च का सबसे तीखा हिस्सा होता है।

देखा गया है कि लाल मिर्च के सेवन से हृदय की गति बढ़ जाती है एवं पसीना आने लगता है। यही लक्षण कामोत्तेजना के वक़्त भी पाए जाते हैं। शोधकर्ताओं का मानना है कि मिर्च जितनी तीखी होगी, उसका स्तम्भन पर प्रभाव भी उतना बेहतरीन होगा। लाल मिर्च में अल्कलॉइड्स नामक तत्व मौजूद होते हैं, जो मनुष्य के शरीर में मौजूद तंत्रिकाओं में खून का प्रवाह बढ़ाते हैं। इससे उनके सम्पूर्ण शरीर में उत्तेजना फैल जाती है एवं उन्हें स्तम्भन या इरेक्शन प्राप्त करने में आसानी होती है। हमारे देश में कई पकवानों में लाल मिर्च का प्रयोग किया जाता है। दक्षिण अमेरिका में भी यह एक बहुचर्चित मसाला है। कुछ देशों के लोगों का मानना है कि लाल मिर्च एक तरह के कीटाणु नाशक का कार्य भी करती है।

कई पुरुष बेहद आश्चर्य करते हैं कि भला लाल मिर्च उनकी सेक्स संबंधित समस्याओं को कैसे दूर कर सकती है। आइये देखते हैं कि किस प्रकार से लाल मिर्च स्तम्भन दोष को ठीक करने में मददगार हो सकती है:

1. यह टेस्टोस्टेरोन के उत्पादन को बढ़ाती है, जो पुरुषों के प्रजनन और सेक्स के दौरान महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाला एक हार्मोन है। यह पुरुषों के प्रजनन तंत्र को विकसित करता है एवं उसे सुचारू रूप से चलाता भी है।

2. इसमें मौजूद अल्कलॉइड्स पुरुषों की रक्तवाहिनियों को फैलाती हैं, जिसके परिणामस्वरूप वे चौड़ी हो जाती हैं एवं उनमें रक्त का प्रवाह बढ़ जाता है। पुरुष के लिंग में रक्त प्रवाह बढ़ जाने से उनमें ज्यादा समय तक इरेक्शन बना रहता है।

इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन आदि पुरुषों के शरीर के लिए स्वास्थ्य वर्धक होते हैं एवं उनके प्रजनन तंत्र को भी स्वस्थ बनाते हैं। लाल मिर्च एक नैचुरल स्टिमुलेंट (उत्तेजक) का भी कार्य करती है।

red-chilli-and-sex