किसी व्यक्ति की इम्यूनिटी सिर्फ उसकी ही नहीं, बल्कि उसके समाज और संपूर्ण मानवता की रक्षा करती है। इसीलिए इम्यूनिटी ही मानवता का आधार है। WHO के अनुसार हर साल करोड़ों लोग संक्रामक बीमारियों के कारण मरते हैं। 90 के दशक में WHO के डायरेक्टर जनरल रहे डॉक्टर हिरोशी नकाजिमा ने एक बार कहा था, "संक्रामक बीमारियों के मामले में हम एक ऐसी जगह पर खड़े हैं, जहां से पूरी दुनिया में गंभीर संकट छा सकता है। कोई देश सुरक्षित नहीं है। किसी देश के लिए इस डर को छिपाना संभव नहीं है" उनकी कही ये बात कितनी सही है, ये आज कोरोना वायरस महामारी के फैलने के बाद जो दुनियाभर के हालात बने हुए हैं, उसे देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है।

पिछले 20 सालों में लगभग 30 नई बीमारियां सामने आई हैं, जिन्होंने करोड़ों लोगों की जिंदगी लील ली और हर साल सीजनल बीमारियों के रूप में लाखों को संक्रमित कर रही हैं। इन्हीं बीमारियों और इंफेक्शन से बचने के लिए आपके इम्यून सिस्टम का मजबूत होना बहुत जरूरी है। आसान भाषा में कहें तो इम्यूनिटी का मतलब है किसी बाहरी जीवाणु के शरीर मे प्रवेश करने पर इम्यून सिस्टम द्वारा उस जीवाणु से शरीर की रक्षा करने की क्षमता।

इम्यूनिटी 2 तरह की होती है: एक जो हमारे जीन्स में होती है, इसे जन्मजात इम्यूनिटी कहते हैं और दूसरी है जो हम समय के साथ वैक्सीन के माध्यम से या जीवाणुओं से संपर्क के द्वारा विकसित करते हैं, इसे अनुकूलक (Adaptive) इम्यूनिटी कहते हैं। शरीर में किसी बाहरी विषाणु या जीवाणु के प्रवेश करने पर जो इम्यूनिटी सबसे पहले उससे लड़ना शुरू करती है, वो जन्मजात इम्यूनिटी है। ये इम्यूनिटी जीवाणु को रोकने का प्रयास करती है। इसके असफल होने पर जीवाणु या विषाणु शरीर पर हावी हो जाता है और व्यक्ति संक्रमण का शिकार हो जाता है। अगर इस स्टेज में संक्रमण को झेल जाता है, तो व्यक्ति का शरीर इस जीवाणु और इससे होने वाले संक्रमण के खिलाफ एडाप्टिव इम्यूनिटी विकसित कर लेता है। शरीर इसे अपने सिस्टम में सुरक्षित कर लेता है, ताकि भविष्य में भी इसका इस्तेमाल कर सके।

विज्ञान और तकनीकी के विकास के साथ होने वाले जेनेटिक अध्ययनों से पता चलता है कि महिलाओं में जन्मजात इम्यूनिटी पुरुषों के मुकाबले ज्यादा मजबूत होती है, क्योंकि उनमें दो 'X' जीन्स होती हैं, जबकि पुरुषों में एक होती है। जेनेटिक कारणों के अलावा भी, पुरुषों में महिलाओं की अपेक्षा ज्यादा खराब लाइफस्टाइल पाई जाती है। पुरुष धूम्रपान ज्यादा करते हैं, महिलाओं की अपेक्षा हाथ कम धोते हैं और बाहरी चीजों के संपर्क में भी ज्यादा आते हैं। इसलिए उन्हें इंफेक्शन का खतरा ज्यादा होता है। कोविड-19 महामारी की रिपोर्ट्स भी यही कहती हैं कि संक्रमण की चपेट में पुरुष (56%) महिलाओं (44%) से ज्यादा संख्या में संक्रमित हुए हैं।

तनाव भी आपके इम्यून सिस्टम को कमजोर करता है। ऐसी गंभीर महामारी और सीजनल बीमारियों से बचाव के लिए जरूरी है कि व्यक्ति की इम्यूनिटी बहुत अच्छी हो।

इन्हीं बातों का ध्यान रखते हुए आधुनिक विज्ञान द्वारा प्रमाणित आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का मिश्रण बनाकर Misters.in ने पुरुषों के लिए एक खास इम्यूनिटी बूस्टर लॉन्च किया है। इस इम्यूनिटी बूस्टर में 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियां हैं, जो पुरुषों के शरीर को शक्ति देती हैं, इम्यूनिटी बढ़ाती हैं और विषाणुओं-जीवाणुओं से लड़ने में शरीर की शक्ति बढ़ाती हैं। इस इम्यूनिटी बूस्टर में आंवला, अश्वगंधा, नीम, गिलोय और शिलाजीत का प्रयोग किया गया है। इन सभी आयु्र्वेदिक औषधियों में ढेर सारे पोषक तत्व होते हैं, जो संक्रमण से बचाव के लिए जरूरी पोषक तत्वों की कमी पूराी कर इम्यूनिटी मजबूत बनाते हैं। आधुनिक विज्ञान ने कई रिसर्च में इन नैचुरल हर्ब्स में इम्यूनिटी बढ़ाने वाले गुण पाए हैं।

आंवला और अश्वगंधा दोनों ही विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत माने जाते हैं, वहीं शिलाजीतन में जिंक, विटामिन बी, ई और 85 मिनरल्स होते हैं, जो कमजोर इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं। गिलोय पर हुए कई अध्ययनों में भी पाया गया कि गिलोय कई तरह के वायरल और बैक्टीरियल इंफेक्शन से बचाव में महत्वपूर्ण हो सकता है। इसी तरह नीम में भी एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं, जो इम्यून सिस्टम और इम्यून सेल्स की एक्टिविटी को तेज करते हैं। नीम, अश्वगंधा और गिलोय को तनाव और चिंता दूर करने में भी प्रभावी पाया गया है। आजकल जिस तरह से दुनियाभर में अनिश्चितता है, उसे देखते हुए तनाव भी लोगों के इम्यून सिस्टम को कमजोर करने वाला एक बड़ा कारण है।

Misters.in Immunity Booster for Men एक ऐसा आयुर्वेदिक उत्पाद है, जिसका आयुर्वेदिक इंग्रीडिएंट पोटेंट स्कोर (AIPS) 3.91 है। बाजार में उपलब्ध दूसरे प्रोडक्ट्स जैसे Himalaya immunity wellness का स्कोर 1 है और Baidyanath Guduchayadi Ghan का स्कोर 2.48 है। इस लिहाज से देखें तो मिस्टर्स. इन का ये प्रोडक्ट ज्यादा प्रभावी और फायदेमंद है। मिस्टर्स के आयुर्वेदिक इम्यूनिटी बूस्टर का साइंटिफिक रिसर्च स्कोर भी 5 में से 3.548 है, जो इसे एक भरोसेमंद इम्यूनिटी बूस्टर बनाता है। यहां क्लिक करें।

natural immunity booster